आलू का लच्छा - Aloo Lachha Recipe

आलू को घिस करके उसमे मूंगफली के दानो और चटपटे मसालों को मिला कर एक स्वादिस्ट और कुरकुरा नमकीन आसानी से बनाया जाता है।
बनाने की सामग्री :-
  • 2 आलू
  • 1 कप मूंगफली के दाने
  • ½ चम्मच काली मिर्च (पाउडर)
  • 1 चम्मच चाँट मसाला
  • 1 चम्मच अमचूर (पाउडर)
  • नमक स्वादानुसार
  • रिफाइंड तेल (तलने के लिए)
बनाने की विधि :-
  • सबसे पहले लच्छा बनाने के लिए आप आलुओं को धोकर छील लीजिए।
  • इसके बाद आप मोटा वाला कद्दूकस लीजिए और बर्तन में पानी भरकर ले लीजिए।
  • कद्दूकस को बर्तन में रखिए और एक-एक करके आलू कद्दूकस कर लीजिए।
  • आलू के लच्छों को अच्छे से धो लीजिए और दूसरे बर्तन पर रखी छलनी में डाल दीजिए।
  • लच्छों को एक बार फिर से पानी में डुबोकर अच्छे से धोकर छलनी में छान लीजिए। जिससे आलुओं का स्टार्च पानी में निकल जाएगा।
  • इसके बाद लच्छों को मोटे तोलिये पर फैला लीजिये ,जिससे लच्छों का अतिरिक्त पानी सूख जाएगा।
  • अब आप लच्छों को तलने के लिए एक कढ़ाही में तेल डालकर गरम कीजिए।
  • एक लच्छे का टुकड़ा कढ़ाही में डालकर देख लीजिए, यह सिक रहा है, तो तेल सही गरम है।
  • अब जितने लच्छे कढ़ाही में आ जाएं, उतने सिकने के लिए डाल दीजिए और लच्छों को आंच पर तलने दीजिए। तेल में झाग बनने लगेंगे।
  • तेल से झाग कम होने के बाद, लच्छों को कलछी से चला लीजिए और रंग बदलने तक फ्राय कर लीजिए।
  • रंग बदलने के बाद, लच्छों को एक छलनी में ही कढ़ाही के ऊपर कलछी से निकालकर डाल दीजिए ताकि लच्छों से अतिरिक्त तेल वापस कढ़ाही में ही चला जाए।
  • सारे आलू लच्छे इसी तरह तलकर तैयार कर लीजिए। एक बार के आलू लच्छा तलने में 5 - 6 मिनिट का समय लगता है।
  • इसके बाद उसी तेल में मूंगफली के दाने डाल दीजिए। इनको लगातार चलाते हुए हल्का तल लीजिए। मूंगफली के दानों से अच्छी खुश्बू आते ही मूंगफली तलकर तैयार हैं।
  • इन्हें छलनी में डाल लीजिए और अतिरिक्त तेल कढ़ाही में ही निकल जाने दीजिए।
  • मूंगफली के दानों को तलने में 3-4 मिनिट का समय लगता है।
  • मूंगफली के दानों को छलनी से एक अलग बर्तन में डाल दीजिए और साथ ही इसमें आलू के लच्छों को भी डाल लीजिए। दोनों को अच्छे से मिला लीजिये।
  • अब आप इसमें अमचूर पाउडर, काली मिर्च का पाउडर और चांट मसाला मिला लीजिये।
  • आपकी कुरकुरी और बहुत ही स्वादिस्ट आलू लच्छा नमकीन तैयार है। गरम चाय के साथ सर्व करें।
उपयोगी सुझाव:-
  • इस नमकीन को ठंडा होने के बाद किसी भी एयर टाइट डिब्बे में भरकर रख सकते हैं और पूरे 1 महीने तक खा सकते हैं।
  • नमक की जगह सैंदा नमक का उपयोग करके हम इसको व्रत वाली नमकीन बना सकते हैं।
  • लच्छों को पानी से अच्छे से धोकर स्टार्च निकाल दें। अगर इनमें स्टार्च रह जाता है, तो आलू के लच्छे सिकने के बाद कुरकुरे नहीं बनेंगे।