फरसी पूरी - Farsi Poori Recipe

हम आपको फरसी पूरी (Farsi poori Recipe) बनाने की विधि /रेसिपी हिंदी में चित्रों के साथ स्टेप बाई स्टेप बता रहे हैं। फरसी पूरी बनाने के लिए निम्न सामिग्री की आवश्य्कता होती है। गुजराती में “फरसी” का मतलब करारा होता है और इसलिए इसके नाम के अनुसार यह एकदम करारी (खस्ता) होती है। पुराने समय में इसे विशेष नाश्ते के रूप में खास तौर पे त्योहारों के दौरान बनाया जाता था।
बनाने की सामग्री :-
  • 2 कप मैदा
  • 3 चम्मच सूजी (रवा)
  • 1 चम्मच साबुत काली मिर्च
  • 3 चम्मच घी (बटर) या तेल
  • 1 चम्मच जीरा
  • तलने के लिए तेल
  • नमक स्वादानुसार
  • पानी आवश्य्कतानुसार
बनाने की विधि :-
  • एक परात में मैदा, सूजी, जीरा, 3 चम्मच घी या तेल और नमक ले और अच्छे से मिलाएं।
  • अब आप आवश्यकता के अनुसार थोड़ा- थोड़ा पानी डालें और कड़ा (टाइट) आटा गूंध लें।
  • यह पराठा के आटे की तुलना में थोड़ा अधिक टाइट होना चाहिए।
  • अब आप आटे को कपड़े से ढककर 10-15 मिनट तक सेट होने के लिए अलग रख दें।
  • इसके बाद आप आटे को बराबर- बराबर भागों में बाँट ले और उस आटे की पूरी के आकार की लोई बना कर रख लें।
  • अब आप चकले के उपर एक लोई रखे और उसे बेलन से लगभग 4 इंच व्यास वाली और थोड़ी मोटी पुरी के आकार में बेल लें।
  • बेली हुई पुरी के ऊपर 2-3 साबुत काली मिर्च रखे और उन्हें बेलन से कुचल दें।
  • चाकू या कांटे से पुरी छेद कर ले ताकि तलते वख्त वे फूले नहीं। एक पुरी में लगभग 5-6 जगह पर छेद पर्याप्त हैं।
  • इसके बाद आप एक कड़ाही में तलने के लिये तेल गरम करें। जब तेल मध्यम गर्म हो तब उसमे 4-5 पुरी डाले और उन्हें दोनों तरफ हल्के सुनहरे रंग के हो जाने तक और खस्ता (कुरकुरा) होने तक तले।
  • बीच- बीच में जरुरत के अनुसार पूरी को पलटे।
  • आपकी फरसी पूरी तैयार है। तली हुई पूरी को एक प्लेट में रखे हुए पेपर नैपकिन के ऊपर निकाले।
  • पुरी थोड़ी ठंडी होने के बाद ज्यादा सुनहरे रंग की हो जायेगी। बाकी की पूरी भी इसी तरह तल ले।
उपयोगी सुझाव:-
  • ठंडी होने के बाद उन्हें एक डिब्बे में भर दे, वे 10-15 दिनों के लिए अच्छी रहती है।
  • अगर आपको साबुत काली मिर्च पसंद नहीं है, तो उन्हें पहले मिक्सी में दरदरा पीस ले और फिर आटे को गूंथते समय ही उसमे पिसी हुई काली मिर्च डालें।
  • फरसी पूरी को कुरकुरा बनाने के लिये आटा में गूंथते समय 1- चम्मच तेल ज्यादा डालें।
  • इन पूरियों को आप मीठा और खट्टा आम का अचार या चाय और कॉफी के साथ सर्व करें।