राजस्थानी मलाई घेवर - Malai Ghever Recipe

आपको घर पर ही आसानी से घेवर (Ghevar Recipe) बनाने की विधि (तरीका) बता रहे है। इस राजस्थानी मिठाई ने पूरे हिंदुस्तान का दिल जीत लिया है। घेवर में भी आपको कई प्रकार की वैराइटी मिल जाएगी जैसे, प्लेन, मावा और मलाई वाली घेवर। राजस्थानी घेवर बनाने के लिए हमें निम्न सामिग्री की आवश्य्कता होती है...
मलाई घेवर बनाने की सामग्री:-
  • 300 ग्राम ग्राम मैदा
  • 100 ग्राम घी
  • 400 ग्राम पानी
  • 100 ग्राम दूध
  • 1/4 चम्मच पीला रंग (खाने वाला)
  • 1 किलो घी
- चाशनी -
  • 400 ग्राम कप चीनी
  • 200 ग्राम कप पानी
- सजावट के लिये -
  • 1 चम्मच इलायची (पाउडर)
  • 1 चम्मच बादाम (कटे हुए)
  • 1 चम्मच पिस्ता (कटे हुए)
  • 1/2 चम्मच केसर (दूध में भिगोया हुआ)
  • चांदी का बरक
मलाई घेवर बनाने की विधि:-
  • सबसे पहले चीनी की चाशनी तैयार करे।
  • इसके लिये हमे किसी बर्तन में चीनी और पानी डाल कर गैस पर रखिये और उबाल आने के बाद 5-6 मिनिट तक पकाइये !
  • जब ये पक जाये तो इसको चम्मच से लेकर एक बूंद किसी प्लेट में गिराइये और ठंडा होने पर अपने अंगूठे और उंगली के बीच चिपका कर देखिये तो चाशनी उनके बीच चिपकनी चाहिये और चाशनी में 2 तार बनने चाहिये।
  • अगर ऐसा नही होता है तो फिर उसको थोड़ी देर पकाइये और चेक कीजेये की चाशनी में 2 तार बन रहे है या नहीं ! चाशनी तैयार हो गई है।
  • उसके बाद एक बडे कटोरे में घी डालें,घी को आइस क्यूब के साथ फेंटे। फिर दूध, मैदा और पानी डाल कर एक पतला घोल बनाएं।
  • अब थोडे़ से पानी में पीला रंग मिला लीजिये और उस पानी को मैदे के घोल में डाल दीजिये।
  • जरुरत के हिसाब से घोल में और अधिक पानी मिलाएं क्यूंकि घोल का पतला होना आवशयक है।
  • अब एक स्टील का बर्तन लें जिसका तला चपटा हो और बर्तन गहरा भी हो (जैसे भगोना) इस बर्तन में आधे तक का घी भर दीजिये और गरम कर दीजिये।
  • घी जब गरम हो जाए तब 50 एमएल गिलास भर के घोल लीजिये और उसे घी के किनारे किनारे डालिये और बीच में एक छेद बनाइये।
  • घोल डालने के बाद उसे थोडा़ सा समय दीजिये जिससे वह बैठ जाए, इसके बाद फिर से गिलास भर कर दुबारा वही विधि अपनाइये। जब घेवर एक बार बैठ जाए तब उसे पकने दीजिये।
  • आप देखेगी की घेवर भूरा होने लगेगा। इसके बाद एक लोहे की कलछुल से और घेवर के बीच में जो छेद है वहां पर उसे डाल कर सावधानी से निकाल लें।
  • अब इसका अतिरिक्त घी निकल जाने दें और इसे चाशनी में डुबो दें और थोडी़ देर के बाद इसे निकाल कर किनारे रख दें, जिससे इसका अतिरिक्त चाशनी निकल जाए।
  • जब यह हल्का ठंडा हो जाए तब इस पर चांदी का बरक लगा दें और केसर का दूध डालें, कटे हुए मेवे डाल कर इलायची पाउडर छिड़क दीजिये।
  • आपका घेवर सर्व करने के लिये तैयार है।
  • आप घेवर के ऊपर रबड़ी और कतरे हुये सूखे मेवे डाल कर इसको सजा सकती है।
उपयोगी सुझाव:-
  • सावन के महीने में आने वाली हरियाली तीज पर प्रायः हर घर में खाया जाता है।
  • सादा घेवर पंद्रह दिनों तक खराब नहीं होता है।
  • मलाई बाला घेवर को आप फ्रिज में ही स्टोर करें।